Type Here to Get Search Results !

Shayaricafe.com All Posts

Hindi poem on life, humour in life, zindagi.

**************************
A nice Hindi poem on life, humour in life, zindagi.
रुई का गद्दा बेच कर, मैंने इक दरी खरीद ली।
ख्वाहिशों को कुछ कम किया मैंने, और ख़ुशी खरीद ली ।
सबने ख़रीदा सोना, मैने इक सुई खरीद ली, सपनो को बुनने जितनी, डोरी ख़रीद ली ।
मेरी एक खवाहिश मुझसे, मेरे दोस्त ने खरीद ली, फिर उसकी हंसी से मैंने अपनी कुछ और ख़ुशी खरीद ली ।
इस ज़माने से सौदा कर, एक ज़िन्दगी खरीद ली, दिनों को बेचा और, शामें खरीद ली।
शौक-ए-ज़िन्दगी कमतर से, और कुछ कम किये, फ़िर सस्ते में ही, सुकून-ए-ज़िंदगी खरीद ली !
ये पोस्ट के इसके अलावा girlfriend / Wife / Boyfriend / Husband / Dosti पर shayari या को मानाने या तारीफ के लिए हिंदी में शायरी ,urdu में शायरी, Best Two Line /4 Line shayari collection ever ,व्हात्सप्प स्टेटस shayari, shayri sangrah मिलेगा जिसे आप सब whatsapp status InstaGram और facebook status पे share कर सकते है

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.